नयी दिल्ली, 25 जुलाई (वार्ता) दिल्‍ली महिला आयोग ने मुनिरका इलाके से बुधवार तड़के नेपाल की 16 लड़कियों को मुक्त कराया।
दिल्‍ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल खुद इन सभी को मुक्त कराने के दौरान मंगलवार देर रात करीब डेढ़ बजे घटनास्थल पर मौजूद थीं। इन लड़कियों को नौकरी की लालच देकर मानव तस्करी के लिए नेपाल से लाया गया था तथा मुनिरका इलाके में एक छोटे से कमरे में बंद करके रखा गया था। सभी लड़कियों के पासपोर्ट दलालों ने छीन लिये थे। जहां से लड़कियों को मुक्त कराया गया वहां से कुछ ही दूरी पर पुलिस स्टेशन है।
पूछताछ में पता चला है कि इन लड़कियों को यहां से कुवैत और इराक भेजने की तैयारी थी। पंद्रह दिन पहले सात लड़कियों को कुवैत और इराक भेजा जा चुका है।
श्रीमती मालीवाल ने कहा कि दिल्‍ली महिला आयोग को सूचना मिली थी कि मुनिरका के एक घर में कुछ लड़कियों को बंधक बनाकर रखा गया है। शिकायत के आधार पर वह पुलिस के साथ वहां पहुंची और सभी लड़कियों को मुक्त कराया।