श्रीनगर 04 अगस्त (वार्ता) जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में शुक्रवार देर रात से जारी तलाश अभियान के दौरान सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुयी भीषण मुठभेड़ में पांच आतंकवादी मारे गए।
रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने शनिवार को यूनीवार्ता को बताया कि आतंकवादियों के छिपे होने की खुफिया सूचना के आधार पर सेना, जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह(एसओजी) और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल(सीआरपीएफ) ने शोपियां जिले के किलोरा गांव में कल देर रात एक संयुक्त तलाश अभियान की शुरुआत की।
गांव में तलाश अभियान के दौरान सुरक्षाबलों के जवान जब एक निश्चित स्थान की ओर बढ़ रहे थे कि तभी वहां पहले से छिपे हुए आतंकवादियों ने स्वचालित हथियारों से सुरक्षाबलों पर अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी इस गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया और जवाबी कार्रवाई में कल देर रात एक आतंकवादी के मारे जाने के बाद अतिरिक्त सुरक्षाबलों को बुलाकर पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी गयी।

कर्नल कालिया ने बताया कि सुरक्षाबलों ने शनिवार सुबह गांव में दोबारा तलाश अभियान चलाया जिसके बाद आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच हुयी भीषण मुठभेड़ में चार और आतंकवादी मारे गए।

मुठभेड़ में अब तक कुल पांच आतंकवादी मारे गए हैं। मारे गए आतंकवादियों के पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद किए गए हैं।

राज्य के पुलिस महानिदेशक(डीजीपी) डॉ एस पी वैद्य ने एक ट्वीट कर बताया कि शोपियां के किलूरा में मुठभेड़ स्थल से चार और आतंकवादियों के शव बरामद हुए हैं, अब तक कुल पांच आतंकवादी मारे गए हैं। उन्होंने इसे राज्य में शांति बनाए रखने के लिए अच्छा बताते हुए जवानों की सराहना भी की।

प्राप्त जानकारी मिलने तक मुठभेड़ अभी भी जारी है। इस बीच अफवाहों को फैलाने से रोकने के लिए प्रशासन ने एहतियात के तौर पर शुक्रवार रात से ही मोबाइल इंटरनेट सेवा को निलंबित कर दिया है।

इस तरह की रिपोर्टें हैं कि मुठभेड़ वाली जगह के आस-पास के गांवों के लोगों ने सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाबलों के अभियान में बाधा डालने की भी कोशिश की थी।