गरियाबंद, 06 अगस्त (वार्ता) कांग्रेस महासचिव और छत्तीसगढ के पार्टी प्रभारी पी एल पुनिया ने झीरम घाटी हत्याकांड के संबंध में आरोप लगाया है कि पार्टी के शीर्ष नेताओं की साजिश रचते हुए राजनीतिक हत्या की गई और पार्टी के सरकार बनाने पर झीरम कांड के हत्यारों को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाया जाएगा।
श्री पुनिया ने कल यहां आयोजित अनुसूचित जाति-जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग सम्मेलन के दौरान ये बात कही।
उन्होंने प्रदेश की जनता को आश्वासन दिलाया कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही इस हत्याकांड के दोषियों को सजा दी जाएगी।
वर्ष 2013 की 25 मई को बस्तर के दरभा स्थित झीरम घाटी में कांग्रेस नेताअों की परिवर्तन यात्रा पर हुए नक्सली हमले में पार्टी के आला नेताओं समेत करीब 25 कार्यकर्ताओं की मौत हो गई थी। इस हमले में पूर्व केन्द्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल, तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस प्रमुख नंदकुमार पटेल और बस्तर के आला कांग्रेस नेता महेंद्र कर्मा मारे गए थे।
श्री पुनिया ने केंद्र सरकार पर भी आरोप लगाते हुए कहा कि हिंदुस्तान की अनुभवी एचएएल कंपनी को जहाज देने का ठेका नहीं देते हुए फ्रांस की कंपनी को लाभ पहुंचाया गया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने संसद में इसे लेकर सवाल खड़े किए, लेकिन उनका कोई जवाब नहीं दिया गया।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस केंद्र सरकार के भ्रष्टाचार को जन-जन तक पहुंचाएगी।